Job News

Latest News
शौर्य स्मारक देशभक्ति की प्रेरणा का स्त्रोत बनेगा
http://chayansewa.in/VIPIMAGESMUL/10-10-2016-5929.jpg

शौर्य स्मारक देशभक्ति की प्रेरणा का स्त्रोत बनेगा

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किया निरीक्षण भोपाल : शनिवार, अक्टूबर 8, 2016, 18:03 IST

 मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि शौर्य स्मारक देशभक्ति की प्रेरणा का स्त्रोत बनेगा। यहाँ आने वाले को भारतीय सैनिकों के शौर्य का परिचय मिलेगा। इससे नागरिकों को गौरव का अहसास होगा। उनमें देशभक्ति, देशप्रेम और कर्तव्यनिष्ठा के भाव जागेंगे। श्री चौहान ने स्मारक की व्यवस्थाओं की आज यहाँ समीक्षा की और संपूर्ण स्मारक परिसर का निरीक्षण किया तथा आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। मुख्यमंत्री को बताया गया कि शौर्य स्मारक लोकार्पण के लिए पूरी तरह तैयार है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि देश की स्वतंत्रता के बाद शहीदों की स्मृति में बनने वाला पहला स्मारक है। अभी जो स्मारक है, वे वॉर मेमोरियल है। यह शहीदों के शौर्य की स्मृतियों का स्मारक है। यहाँ इसका अहसास होगा कि कितनी कठिन परिस्थितियों में हमारे सैनिक सीमाओं की रक्षा करते हैं।

स्मारक में जीवन का अहसास करवाने, मृत्यु और मृत्यु के परे जीवन की संकल्पनाओं का अनुभव करवाने का प्रयास किया गया है। युद्ध की आवाजों के दृश्य संयोजित किए गए हैं। शौर्य स्तम्भ निर्माण की संकल्पना मृत्यु पर विजय है। स्तम्भ के नीचे लाल बिन्दु रक्त का प्रतीक है। सर्वोच्च पर सफेद जीवन को दर्शित करता है। शौर्य स्तम्भ के पीछे स्वतंत्र भारत के वीरगति प्राप्त करने वाले प्रदेश के शहीदों के नाम अंकित किए गए हैं। शौर्य स्तम्भ में निरंतर जलने वाली ज्योति प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा प्रज्जवलित की जायेगी। प्रधानमंत्री 14 अक्टूबर को स्मारक देशवासियों को लोकार्पित करेंगे।

मुख्यमंत्री को शौर्य स्मारक की व्यवस्थाओं और प्रधानमंत्री के भ्रमण संबंधी विभिन्न व्यवस्थाओं की जानकारी मुख्य सचिव श्री अंटोनी डिसा ने दी। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव श्री बी.पी. सिंह, पुलिस महानिदेशक श्री ऋषि कुमार शुक्ला, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री एस.के. मिश्रा, प्रमुख सचिव नगरीय प्रशासन श्री मलय श्रीवास्तव, प्रमुख सचिव संस्कृति श्री मनोज श्रीवास्तव, आयुक्त भोपाल संभाग श्री अजातशत्रु, आयुक्त संस्कृति श्री राजेश मिश्रा, पुलिस महानिरीक्षक श्री योगेश चौधरी, कलेक्टर श्री निशांत वरवड़े एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

साभार अजय वर्मा




ALL VIP DETAIL

शौर्य स्मारक देशभक्ति की प्रेरणा का स्त्रोत बनेगा

शौर्य स्मारक देशभक्ति की प्रेरणा का स्त्रोत बनेगा

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किया निरीक्षण भोपाल : शनिवार, अक्टूबर 8, 2016, 18:03 IST

 मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि शौर्य स्मारक देशभक्ति की प्रेरणा का स्त्रोत बनेगा। यहाँ आने वाले को भारतीय सैनिकों के शौर्य का परिचय मिलेगा। इससे नागरिकों को गौरव का अहसास होगा। उनमें देशभक्ति, देशप्रेम और कर्तव्यनिष्ठा के भाव जागेंगे। श्री चौहान ने स्मारक की व्यवस्थाओं की आज यहाँ समीक्षा की और संपूर्ण स्मारक परिसर का निरीक्षण किया तथा आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। मुख्यमंत्री को बताया गया कि शौर्य स्मारक लोकार्पण के लिए पूरी तरह तैयार है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि देश की स्वतंत्रता के बाद शहीदों की स्मृति में बनने वाला पहला स्मारक है। अभी जो स्मारक है, वे वॉर मेमोरियल है। यह शहीदों के शौर्य की स्मृतियों का स्मारक है। यहाँ इसका अहसास होगा कि कितनी कठिन परिस्थितियों में हमारे सैनिक सीमाओं की रक्षा करते हैं।

स्मारक में जीवन का अहसास करवाने, मृत्यु और मृत्यु के परे जीवन की संकल्पनाओं का अनुभव करवाने का प्रयास किया गया है। युद्ध की आवाजों के दृश्य संयोजित किए गए हैं। शौर्य स्तम्भ निर्माण की संकल्पना मृत्यु पर विजय है। स्तम्भ के नीचे लाल बिन्दु रक्त का प्रतीक है। सर्वोच्च पर सफेद जीवन को दर्शित करता है। शौर्य स्तम्भ के पीछे स्वतंत्र भारत के वीरगति प्राप्त करने वाले प्रदेश के शहीदों के नाम अंकित किए गए हैं। शौर्य स्तम्भ में निरंतर जलने वाली ज्योति प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा प्रज्जवलित की जायेगी। प्रधानमंत्री 14 अक्टूबर को स्मारक देशवासियों को लोकार्पित करेंगे।

मुख्यमंत्री को शौर्य स्मारक की व्यवस्थाओं और प्रधानमंत्री के भ्रमण संबंधी विभिन्न व्यवस्थाओं की जानकारी मुख्य सचिव श्री अंटोनी डिसा ने दी। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव श्री बी.पी. सिंह, पुलिस महानिदेशक श्री ऋषि कुमार शुक्ला, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री एस.के. मिश्रा, प्रमुख सचिव नगरीय प्रशासन श्री मलय श्रीवास्तव, प्रमुख सचिव संस्कृति श्री मनोज श्रीवास्तव, आयुक्त भोपाल संभाग श्री अजातशत्रु, आयुक्त संस्कृति श्री राजेश मिश्रा, पुलिस महानिरीक्षक श्री योगेश चौधरी, कलेक्टर श्री निशांत वरवड़े एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

साभार अजय वर्मा